ITR फाइल करते वक्त इस बात का रखें ध्यान

ITR फाइल करते वक्त इस बात का रखें ध्यान

फाइनेंशियल ईयर 2018-19 के लिए इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की ओर से ITR के फॉर्म भी जारी कर दिए गए हैं. इस फॉर्म के जरिए आपको अपनी सालाना कमाई का ब्‍यौरा देना होता है.ऐसे में यह जरूरी है कि समय निकाल कर आप आईटीआर फॉर्म भर लें. हालांकि ITR भरने के लिए कुछ डॉक्‍युमेंट की भी जरूरत पड़ेगी. आज हम आपको इस रिपोर्ट में कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट्स के बारे में बताने जा रहे हैं. इन डॉक्‍युमेंट को तैयार कर आप बिना किसी बाधा के फॉर्म भर सकते हैं.

बैंक डिटेल

अगर आपके पास कई बैंकों के खाते हैं तो आईटीआर फॉर्म फाइल करते वक्‍त सभी जानकारी देनी होगी. इसके तहत ग्राहकों को बैंक ब्रांच से लेकर IFSC कोड तक की डिटेल भरनी होगी. अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आपको परेशानी हो सकती है.

आधार कार्ड

आईटीआर फाइलिंग के वक्‍त आधार कार्ड रखाना अनिवार्य है. दरअसल, आयकर अधिनियम के सेक्शन 139AA के मुताबिक रिटर्न फाइलिंग के दौरान आधार का उल्लेख करना जरूरी है. अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आईटीआर प्रोसेस आगे नहीं बढ़ेगा. बता दें कि आधार कार्ड की संवैधानिकता को बरकरार रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने भी आईटीआर फाइलिंग के लिए पैन और आधार की लिंकिंग को अनिवार्य रखा है.

निवेश से जुड़े दस्तावेज

अगर आपने टैक्‍स सेविंग के लिए कुछ निवेश किया है तो उसकी जानकारी आपको आईटीआर फॉर्म में देनी होगी. इस निवेश के जरिए आपको राहत मिल सकती है. हालांकि इसमें आप 1.5 लाख रुपये से अधिक का निवेश नहीं दिखा सकते हैं. इसमें EPF, PPF, एलआईसी और एनपीएस जैसी स्‍कीम के निवेश मान्‍य होते हैं.

फॉर्म -16

वित्त वर्ष की समाप्ति के बाद कंपनियों की ओर से उनके कर्मचारियों को फॉर्म -16 का फॉर्म जारी किया जाता है. यह एक तरह का टीडीएस सर्टिफिकेट होता है, जो आईटीआर फाइलिंग के दौरान सबसे अहम दस्तावेज माना जाता है. इस फॉर्म में वित्त वर्ष के दौरान आपके नियोक्ता की और सैलरी में टैक्स कटौती का जिक्र होता है.

ब्‍याज से कमाई के सोर्स की जानकारी

इस बार के इनकम टैक्‍स रिटर्न फॉर्म्स में टैक्‍सपेयर्स से ब्‍याज से कमाई के सोर्स की भी जानकारी मांगी जा रही है. आसान भाषा में समझें तो आपको सेविंग अकाउंट पर मिलने वाला ब्याज या फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाला ब्याज या फिर अन्य इनकम पर होने वाले ब्याज की जानकारी देनी होगी. ऐसे में फॉर्म भरते वक्‍त इसकी जानकारी जरूर रखें.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )