पैसा ना होने से अधुरा है अपना कारोबार शुरू करने का सपना? जानिये कैसे यह स्कीम कर सकती है सपना पुरा

पैसा ना होने से अधुरा है अपना कारोबार शुरू करने का सपना? जानिये कैसे यह स्कीम कर सकती है सपना पुरा

आज का भारत नौकरी नहीं करना चाहता बल्कि नौकरी देना चाहता है , अपना कारोबार शुरू करना चाहता है लेकिन अक्सर ये देखा गया है लोग अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं लेकिन पैसों की कमी की वजह से उन्‍हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

ऑर्डर अगर आप भी उन लोगों में आते हैं जिनका कारोबार सिर्फ पैसा न होने क वजह से रुका हुआ है तो आपके लिए ये एक बहुत महत्वपुर्ण जानकारी होने वाली है। आइए जानते हैं एक स्‍कीम के बारे में जिसके अन्तरगर्त आपको कारोबार शुरू करने में लगने वाला पैसा कैसे आएगा, कहाँ से आएगा इस बात की चिंता नहीं करनी पड़ेगी।

  आइए जानते हैं इस स्‍कीम के बारे में

आपको बता दें , प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत SBI की ओर से अलग-अलग 3 कैटेगरी में 10 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है. यह लोन शिशु, किशोर और तरुण कैटेगरी का होता हैशिशु कैटेगरी के तहत 50000 रुपये तक लोन मिलते हैं, जबकि किशोर के तहत 50 हजार रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक लोन मिलते हैं. इसी तरह तीसरी कैटेगरी यानी तरुण के तहत एसबीआई की ओर से 5 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक लोन दिए जाते हैं.

शिशु और किशोर कैटेगरी के लिए प्रोसेसिंग फीस फ्री है तो वहीं तरुण कैटेगरी के लिए प्रोसेसिंग फीस लोन अमाउंट पर 0.50 फीसदी का चार्ज लगता है.

एसबीआई की मुद्रा लोन उन्‍हीं लोगों को मिलता है जो बिजनेस शुरू करना चाहते हैं. नई यूनिट की शुरुआत करने वाले लोग भी इस योजना के तहत लोन ले सकते हैं.

ये लोन एसबीआई के लगभग हर ब्रांच द्वारा दिए जाते हैं. वहीं लोन लेने वाला कहीं से भी किसी वित्तीय संस्थान द्वारा डिफॉल्टर घोषित नहीं होना चाहिए. अगर लोन लेने वाला ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान से ट्रेनिंग ले चुका है तो उसे प्राथमिकता दी जाती है.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )