इस तरह Google दुनियाभर के मच्छरों का करेगी सफाया!

इस तरह Google दुनियाभर के मच्छरों का करेगी सफाया!

मच्छर की वजह से किसी अन्य जानवरों की तुलना में यह अधिक लोगों की जान लेता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक मच्छर के कारण हर साल करीब 10 लाख से अधिक मौतें होती हैं. मलेरिया, डेंगू, पीला बुखार, और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के कारण हर साल लाखों लोग बीमार पड़ते हैं. यह सभी बीमारियां मच्छरों द्वारा ही होती हैं. ऐसा लगता है कि मच्छरों को जल्द ही दुनिया से खत्म किया जा सकता है. गूगल की पैरेंट कंपनी ‘अल्फाबेट’ इस प्रोजेक्ट पर काम कर रही है. इस कंपनी ने मच्छरों को जड़ से खत्म करने का नया तरीका निकाला है.

कैलिफोर्निया के फ्रेंस्नो में साल 2017 से अल्फाबेट कंपनी के रिसर्च ऑर्गनाइजेशन के द्वारा एक प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है, जिसमें मच्छरों को खत्म करने का तरीका निकाला है. डिबग प्रोजेक्ट कैलिफोर्निया की एक लैब में मच्छरों को पाल रहा है. ये मेल मच्छर वोल्बाचिया नामक जीवाणु से संक्रमित होते हैं, जो मादा मच्छरों में बांझपन का कारण बनता है. संक्रमित मच्छरों को मादा मच्छरों के साथ प्रजनन करने के लिए एक दिए गए क्षेत्र में छोड़ दिया जाता है और लक्ष्य यह होता है कि धीरे-धीरे मच्छरों की आबादी को कम करना है कि ताकि वह अपनी नई पीढ़ी को जन्म न दे सके.

यह प्रयोग कितना सफल रहा? फिलहाल, छह महीने के कोर्स खत्म होने के बाद डिबग ने कैलिफोर्निया के फ्रेस्नो में 15 मिलियन से अधिक संक्रमित मच्छरों को खुला छोड़ा. इसने पूरे दो-तिहाई मादा मच्छर काटने की आबादी को कम कर दिया. यह प्रोजेक्ट कुल मच्छरों की आबादी को 95% तक कम करने में सफल हुई.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )