अगली बार लद्दाख जाएं तो इस कैफ़े का लुत्फ़ ज़रूर उठाएँ

अगली बार लद्दाख जाएं तो इस कैफ़े का लुत्फ़ ज़रूर उठाएँ

हम ऐसे समय में रहते हैं जब हर शहर में आइस बार और रेस्तरां एक आम बात हो गई है; लेकिन, क्या आपने कभी ऐसा कैफे देखा है जो पूरी तरह से प्राकृतिक बर्फ से बना हो। हां, ऐसी अनोखी जगह मौजूद है और वह भी हमारे अपने देश में। लेह-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्मित, लद्दाख के गया मेरु गाँव में ‘ आइस स्तूप कैफे’ भारत का पहला प्राकृतिक आइस कैफे है।

यह कैफे भारत की ‘सीमा सड़क संगठन’ द्वारा 14,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर बनाया गया है।इसको बनाने का विचार रोलेक्स अवार्डी सोनम वांगचुक के कार्यों से प्रेरित है , जिन्होंने सर्दियों के पानी को बचाने के लिए हिमनदों का उपयोग किया और गर्मियों में इसका उपयोग किया।

यह आइस स्तूप कैफे अपने ग्राहकों को चाय, कॉफी और नूडल्स परोसता है। इसकी लोकप्रियता ने , इस समय पर गुमान गया मेरु को आज एक लोकप्रिय टूरिस्ट आकर्षण बना दिया है। तो अगली बार लद्दाख जाएं तो यहाँ ज़रूर होकर आएं।

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )